सुशांत की टीम ने लॉन्च की वेबसाइट, यहां मिलेंगी एक्टर की खूबसूरत यादें

By Aditi June 17, 2020, 9:21 p.m. 1k

इस साल कई बॉलीवुड स्टार्स दुनिया से अलविदा कह चले, जिनमे से एक सुशांत सिंह राजपूत भी हैं। 14 जून को उन्होंने अपने घर पर सुसाइड किया। एक्टर के इस तरह जाने से हर कोई सदमे में हैं। सुशांत अपने पीछे कई सवाल और अपने कई सपने जो वो पूजा करना चाहते थे उन्हें छोड़ हैं। उनके सपनों में से एक था। एक वेबसाइट लॉन्च करना। जो अब सुशांत के जाने के बद उनकी टीम ने एक्टर के विचार और आईडिया शेयर करने के लिए selfmusing.com वेबसाइट लॉन्च की है। 

सुशांत की टीम ने बताया कि Self Musing सुशांत का सपना था। वेबसाइट की अनाउंसमेंट करते हुए उनकी टीम ने सुशांत सिंह राजपूत के फेसबुक पेज में लिखा- वो हमसे दूर चला गया लेकिन अभी भी हमारे बीच जिंदा है। #SelfMusing शुरू कर रहे हैं। आप जैसे प्रशंसक सुशांत के लिए वास्तविक "गॉडफादर" थे। जैसा कि उनसे वादा किया गया था, इस स्पेस को उनके सभी विचारों, शिक्षाओं, सपनों और इच्छाओं में परिवर्तित करना। हां, हम सभी पॉजिटिव एनर्जी को यहां डाल रहे हैं। जिन्हें वो अपने पीछे छोड़ गए हैं। #AlwaysAlive #BestofSSR.

फिलहाल ये वेबसाइड डेवलपिंग स्टेज पर है, जिसमें अभी सिर्फ होम पेज है। इसी के साथ डिस्क्रिप्शन में लिखा है- सुशांत सिंह राजपूत एक भारतीय अभिनेता, डांसर, उद्यमी और परोपकारी व्यक्ति थे। #SelfMuse उनका जुनून था। जैसा कि उनसे वादा किया गया था, ये एक ऐसा स्थान है जिसमें उनके सभी विचार, सीख और इच्छाएं होंगी। वो चाहते थे कि लोग इन सब के बारे में जानें। सुशांत सिंह राजपूत अपने सोशल मीडिया अकाउंट को लेकर एक किस्म के उत्साही थे। इसमें फ़िल्म दुनिया और ग्लैमर इसे इतर काफी कुछ लिखते थे। एक उनकी दुनिया से अलग एक दुनिया था। उनके अकाउंट पर आज भी एक बहुत फेमस पेटिंग लगी हुई है।

Related Story

Next Story

PICS: 39 साल के हुए MAHENDRA SINGH DHONI, गुपचुप रचाई थी साक्षी संग शादी

single-post

By E24 July 7, 2020, 3:38 p.m. 1k

पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी आज अपना 39वां जन्मदिन सेलिब्रेट कर रहे है। उनका जन्म 7 जुलाई 1981 को झारखंड (तब बिहार) के रांची में हुआ था। महेंद्र सिंह धोनी ये नाम क्रिकेट की दुनिया का एक ऐसा नाम है जिसके नाम कई रिकॉर्ड्स हैं। अपने बड़े बालों के साथ बल्लेबाजी करते धोनी, गेंदबाजों के छक्के छुड़ाते माही, विकेट के पीछे से अपने गेंदबाजों को सुझाव देते है। 

झारखंड के रांची से आने वाले धोनी ने भारतीय क्रिकेट को नई ऊंचाईयां दी। धोनी क्रिकेट के मैदान में जितना धमाल मचाते हैं वहीं पर्सनल लाइफ में वो काफी सुलझे हुए हैं। धोनी के जन्मदिन पर हम आपको इस कपल की लव-स्टोरी बता रहे हैं।

धोनी और साक्षी की मुलाकात बचपन में ही हो गई थी। धोनी और साक्षी के पिता रांची में एक ही कंपनी मेकॉन में काम करते थे। इसीलिए धोनी-साक्षी बचपन से ही एक दूसरे को जानते थे। धोनी और साक्षी रावत तब रांची के डीएवी श्यामली के स्कूल में साथ पढ़ते करा करते थे।

 साक्षी और धोनी के परिवार एक दूसरे को बहुत पहले से जानते थे। कोलकाता की साक्षी सिंह रावत के परिवार का नाता देहरादून से जुड़ा है। हालांकि महेंद्र सिंह धोनी झारखंड के रांची में पैदा हुए पर उनका परिवार अलमोरा जिले से है। 

ऐसे में दोनों का उत्तराखंड कनेक्शन भी है। साक्षी फिर से सीधे ही देरादून चली गईं तो दोनों परिवारों के बीच कोई कनेक्शन ही नहीं बचा, लेकिन वो कहते हैं ना कि किस्मत में जो लिखा हो उसे कौन टाल सकता है। धोनी और साक्षी की मुलाकात अचानक की कोलकाता में हुई। 

 उस वक्त भारत और पाकिस्तान के बीच ईडन गार्डन्स में मैच खेला जा रहा था। जिस होटल में धोनी रुके थे उसी होटल में साक्षी ट्रेनिंग ले रहीं थीं। होटल के मैनेजर युद्धजीत दत्ता ने साक्षी की धोनी से मुलाकात कराई। इसके बाद धोनी ने दत्ता से साक्षी का नंबर मांगा और मैसेज किया। 

पहले साक्षी को लगा कि कोई फिरकी ले रहा है लेकिन बाद में पता चला कि वो धोनी ही है। इसके बाद 2008 में दोंनों ने एक दूसरे को डेट करना शुरू किया। किसी को इनके रिलेशन के बारे में कोई खबर नहीं थी। अचानक ही खबर इनकी सगाई की आ गई। 

4 July 2010 को देहरादून के एक होटल में सारी तैयारियां चुपचाप ही हो गईं थीं। अचानक ही दोनों ने शादी भी कर ली। मीडिया में शादी की कोई खबर तक नहीं पहुंच पाई थी। 

बाद में सबको पता चला कि ये शादी कर चुके हैं। दोनों की शादी में परिवार के साथ सुरेश रैना और जॉन अब्राहम जैसे कुछ नाम ही शामिल हुए। शादी के काफी वक्त 6 जनवरी 2015 को धोनी और साक्षी की बेटी जीवा ने जन्म लिया। धोनी आज वाइफ साक्षी के साथ हैप्पिली मैरिड हैं। 

Related Story

Next Story

SUSHANT SINGH की फिल्म दिल बेचारा के ट्रेलर ने तोड़े सारे रिकॉर्ड ! हॉलीवुड की सबसे बड़ी फिल्म को छोड़ा पीछे ...

single-post

By E24 July 7, 2020, 3:13 p.m. 1k

नम्रता शर्मा - सोमवार को सुशांत सिंह राजपूत(Sushant Singh Rajput) की आखिरी और संजना संघी(Sanjana Sanghi) की पहली फिल्म दिल बेचारा(Dil Bechara) का ट्रेलर रिलीज हुआ है। फिल्म के ट्रेलर को काफी अच्छा रिस्पांस मिल रहा है। ट्रेलर से सुशांत सिंह राजपूत का एक डायलॉग भी काफी ज्यादा सुर्खियां बटोर रहा है जिसमें वो कह रहे हैं की जन्म कब लेना है और मरना कब है ये हम डिसाइड नहीं करते, लेकिन जीना कैसे हैं ये तो डिसाइड कर ही सकते हैं। 

देखते ही देखते सुशांत की आखिरी फिल्म का ट्रेलर नए रिकॉर्ड सेट कर रहा है।फिल्म के ट्रेलर को अब तक 25 मिलियन लोग देख चुके हैं और ये आंकड़ा निश्चित तौर पर बढना तय है।

सुशांत और संजना की फिल्म दिल बेचारा के ट्रेलर को 24 घंटे के अंदर ही 5.5 मिलीयन लाइक्स मिल चुके हैं। इसी के साथ सुशांत की फिल्म का ट्रेलर यूट्यूब पर नंबर 1 ट्रेंड कर रहा है। 

ऐसा लग रहा है जैसे सुशांत के साथ उनकी आखिरी फिल्म को ब्लॉकबस्टर बनाने का वादा बखूबी निभा रहे हैं। क्या आप जानते हैं सुशांत की फिल्म दिल बेचारा के ट्रेलर ने अवेंजर्स एंडगेम ट्रेलर के व्यूज और लाइक्स को भी पछाड़ दिया है।

जी हां, अवेंजर्स एंडगेम(Evengers Endgame) के पहले ट्रेलर को 3.2 मिलीयन लाइक्स मिले थे जबकि दूसरे ट्रेलर को 2.9 मिलीयन लाइक्स मिले थे। अवेंजर्स इंफिनिटी वॉर के ट्रेलर की बात करें तो उसको 3.6 मिलीयन लाइक्स मिले थे। ये पहली बार है जब किसी फिल्म ने अवेंजर्स सीरीज के ट्रेलर को भी बहुत पीछे छोड़ दिया है। हैरानी की बात तो ये है कि आंकड़ा हर मिनट के साथ बढ़ता जा रहा है। सुशांत की फिल्म के ट्रेलर को 25 मिलीयन व्यूज मिल चुके हैं और अभी ये आंकड़ा और बढ़ता जा रहा है।

बता दें इस फिल्म को कास्टिंग डायरेक्टर मुकेश छाबड़ा(Mukesh Chhabra) ने डायरेक्ट किया है। ये उनकी पहली डायरेक्टोरियल फिल्म है। फिल्म का म्यूजिक ए आर रहमान ने कंपोज किया है। फिल्म में सुशांत मैनी(Manny) के किरदार में और संजना संघी किज़ी(Kizzy) के किरदार में नजर आएंगे। फिल्म 24 जुलाई को डिजनी प्लस हॉटस्टार पर रिलीज होगी। ये फिल्म सभी के लिए फ्री होगी यानी अगर आप डिजनी प्लस हॉटस्टार के मेंबर नहीं है तो भी आप इस फिल्म को देख पाएंगे। ऐसा फिल्म के मेकर्स ने सुशांत सिंह राजपूत को श्रद्धांजलि देने के लिए किया है।

सुशांत की आखिरी फिल्म दिल बेचारा को बॉलीवुड के कई सितारे प्रमोट कर रहे हैं इन सभी सितारों ने अपने फैंस से अपील की है कि वह इस फिल्म को जरूर देखें और इस फिल्म के नाम सबसे ज्यादा देखी जाने वाली फिल्म का रिकॉर्ड सेट करें।

Related Story

Next Story

कोरियोग्राफर सरोज खान की बायोपिक बनाएंगे रेमो डिसूजा, पहले ही मिल गई थी मंजूरी

single-post

By E24 July 7, 2020, 2:52 p.m. 1k

बॉलीवुड की मशहूर कोरियोग्राफर सरोज खान बीती 3 जुलाई को दुनिया से अलविदा कह गई। 50 के दशक में सरोज ने बैकग्राउंड डांसर काम करना शुरू किया था। बॉलीवुड में सरोज खान के ज्यादातर हस्तियों के साथ काम किया था। अब उनके चले जाने के बाद एक्टर, डायरेक्टर, कोरियोग्राफर रेमो डिसूजा उनकी प्रेरणादायक कहानी को लोगों तक पहुंचाने वाले हैं। रेमो ने सरोज खान पर बायोपिक बनाने का फैसला किया है जिसकी बातचीत शुरू कर दी गई है।

एक रिपोर्ट में सरोज खान की बेटी सुकैना ने बताया कि रेमो डिसूजा उनकी मां की बायोपिक बनाने पर चर्चा कर रहे हैं। रेमो से पहले कुणाल कोहली भी उनसे फिल्म बनाने की अप्रोच कर चुके हैं। इतना ही नहीं डायरेक्टर बाबा यादव की पत्नी भी सरोज खान की कहानी पर एक बायोपिक बनाने की सोच रही हैं।

इस बारे में रेमो का कहना है कि फिल्म कलंक की शूटिंग के दौरान मैने सरोज जी के साथ काम किया था। हमने काफी वक्त के साथ बिताया था। इस दौरान रेमो की बात सरोज जी से हुई थी। सरोज जी चाहती थीं कि रेमो ही उनकी बायोपिक बनाएं क्योंकि वो दोनों ही जीरो से हीरो बने हैं। ऐसे में सरोज का मानना था कि रेमो उन्हें बेहतर तरीके से समझ सकते हैं। जब रेमो ने अपनी ऑफिस में सरोज जी से उनकी बायोपिक बनाने का पूछा तो उन्होंने खुश होते हुए कहा, 'बिल्कुल, बोल कब बनाएगा, जल्दी बना दे'। तब से लेकर आजतक रेमो ने कोई ऑफिशियल अनाउंसमेंट नहीं की थी मगर उन्होंने बताया कि ये उनका ड्रीम प्रोजेक्ट है।

आपको बता दें कि सरोज खान के जाने के बाद उनके बच्चों ने सोशल मीडिया पर एक स्टेटमेंट जारी कर कहा था कि कोरोना को लेकर वे अभी अपनी मां के लिए शोक सभा आयोजित नहीं कर रहे। उन्होंने सरोज खान की फोटो शेयर कर लिखा, 'आप सभी के मैसेज और अपनी दुआओं में उन्हें याद रखने के लिए सभी को धन्यवाद। कोविड 19 को लेकर जो इभी स्थिति है उसे देखते हुए हमने शोक सभी नहीं रखने का फैसला किया है। जैसे ही स्थिति सामान्य होगी हम मिलेंगे और उनकी जिंदगी को सेलिब्रेट करेंगे'।

बता दें कि सरोज खान डायबिटीज और इससे संबंधित बीमारियों से जूझ रही थीं। इसके चलते उन्होंने बीच में अपने काम से एक लंबा ब्रेक लिया था। साल 2019 में सरोज ने 'कलंक' और 'मणिकर्णिकाः द क्वीन ऑफ झांसी' में एक-एक गाने को कोरियॉग्राफ किया था। 'कलंक' में उन्होंने 'तबाह हो गए' गाने को कोरियोग्राफ किया था, जिसमें माधुरी दीक्षित ने बेहतरीन डांस कर सभी का दिल जीत लिया था।

Related Story

Next Story

जानिए क्यों 45 साल बाद शिल्पा शेट्टी बन गयी शाकाहारी ? अब नॉनवेज को नहीं लगाएंगी हाथ

single-post

By E24 July 7, 2020, 2:46 p.m. 1k

अदिति त्यागी - बॉलीवुड (Bollywood) की एक्टिंग और फिटनेस क्वीन शिल्पा शेट्टी कुंद्रा (Shilpa Shetty Kundra) यूं तो अपने ग्लैमर को लेकर चर्चा में बनी रहती हैं।लेकिन अब शिल्पा शेट्टी ने हाल ही में घोषणा की कि उन्होंने शाकाहार (Vegetarian)को स्वीकार कर लिया है क्योंकि उनका उद्देश्य नेचर में अपने कार्बन फुटप्रिंट को कम करना है। शिल्पा ने इंस्टाग्राम पर एक वीडियो (Video)शेयर किया जिसमें वह अपने बेटे वियान के साथ खेत से सब्जियां उठाती हुई दिखाई दे रही हैं। मां-बेटे की जोड़ी को साथ में देखा जा सकता है  45 वर्षीय अभिनेत्री को बेटे वियान के साथ खेत से  गोभी और स्नैप बीन्स लूटते हुए देखा जा सकता है।  

शिल्पा ने वीडियो के लंबे कैप्शन में लिखा, 'चूंकि मैंने यहां कई मील के पत्थर शेयर किए हैं, यह भी कुछ ऐसा ही है ... यह एक बहुत ही व्यक्तिगत पसंद है, मेरे लिए एक कठिन फैसला है; एक समय में असंभव सा लग रहा था, लेकिन मैं शिफ्ट धीरे-धीरे हुई और अब, मैंने शाकाहार को पूरी तरह से स्वीकार कर लिया है। ' उन्होंने कहा  'शाकाहारी भोजन का पालन न केवल जानवरों के लिए फायदेमंद है, बल्कि वास्तव में हमें हृदय रोग, मधुमेह, मोटापे से बचा सकता है, हृदय स्वास्थ्य और कुछ प्रमुख बीमारियों को ठीक कर सकता है और उल्टा भी कर सकता है मैं  पर्यावरण में अपने कार्बन पदचिह्न को कम करना चाहती हूँ ,बीते  इन वर्षों में, मैंने महसूस किया है कि भोजन के लिए पशुधन की खेती ने न केवल जंगलों को नष्ट किया है, बल्कि कार्बन डाइऑक्साइड, मीथेन और नाइट्रस-ऑक्साइड उत्सर्जन का सबसे बड़ा स्रोत भी रहा है। हमारे ग्रह जिस जलवायु परिवर्तन का सामना कर रहे हैं उसके लिए ये प्रमुख रूप से जिम्मेदार हैं। "

शिल्पा ने शुरू में वह मांसाहारी क्यों थी, इस बारे में खुलते हुए  कहा, "मेरी जड़ों (मंगलोरियन) को देखते हुए, हमारे आहार में हमेशा कुछ तत्व शामिल होते हैं, भोजन अक्सर मछली / चिकन के बिना अधूरा महसूस होगा क्योंकि वे आदतें बन गए थे, फिर एक लत बन गई। लेकिन जब से मैंने योग को जीवन पद्धति के रूप में अपनाया, मैंने हमेशा अधूरा महसूस किया। मुझे जीवन की इस यात्रा में 45 साल और आगे बढ़ने की जरूरत थी, और मैंने आखिरकार स्विच कर लिया है। ”

हालांकि, शिल्पा ने  यह साफ़ कर दिया कि वह अपने YouTube चैनल पर अपने मांसाहारी व्यंजनों को नहीं हटाएगी, लेकिन अब केवल शाकाहारी व्यंजनों पर ही ध्यान देगी। यह  कहते हुए शिल्पा ने  नोट को समाप्त कर दिया। 

Related Story