सुनील दत्त की पुण्यतिथि पर संजय ने किया पापा को याद, शेयर की पुरानी तस्वीरें

By Neetu May 25, 2020, 12:32 p.m. 1k

लीजेंडरी एक्टर सुनील दत्त ( Sunil Dutt Death Anniversary) की आज पुण्यतिथि है। 25 मई 2005 को उनका निधन हुआ था। सुनील दत्त ( Sunil Dutt ) 60 और 70 के दशक में हिंदी सिनेमा के मशहूर एक्टर थे। वक्त, गुमराह, मदर इंडिया, हमराज, रेशमा और शेरा, मेरा साया, सुजाता समेत उन्होंने करीब 250 फिल्मों में काम किया।  उनका जन्म 6 जून 1929 को सुनील दत्त का जन्म पाकिस्तान के खुर्दी गांव में हुआ था। सुनील दत्त का असली नाम बलराज दत्त था । सुनील दत्त ना सिर्फ अच्छे इंसान और पति थे बल्कि एक जिम्मेदार पिता भी थे। उनकी पुण्यतिथि पर संजय दत्त ( Sanjay Dutt ) ने तस्वीरों का एक वीडियो बनाकर पापा को याद किया। संजय दत्त ने लिखा है। मुझे पता है कि मुझे किसी भी चीज़ के बारे में चिंता करने की ज़रूरत नहीं है। हमेशा मेरे साथ होने के लिए धन्यवाद। आपको आज ही नहीं हर रोज मिस करता हूं 

सुनीत दत्त को गुजरे 15 साल हो गए हैं। संजय दत्त आए दिन अपने पिता और मां को याद करते हैं। पुरानी तस्वीरें शेयर कर उन्हें याद करते हैं। 

संजय दत्त की माने तो उन्होंने बचपन में बहुत शरारतें कीं और लोगों को बहुत तंग किया लेकिन अपने बच्चों से वो ऐसी उम्मीद नहीं करते। संजय़ दत्त चाहते है कि उनके बच्चों में दादाजी वाले संस्कार आए ।

संजय दत्त स्कूल के दिनों से ही ड्रग्स लेने लगे थे। पापा सुनील दत्त को जब इस बात की खबर लगी तो उन्हें सदमा लगा। लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी। 

बेटे को सही राह पर लाने के लिए बतौर हीरो बॉलीवुड में लॉन्च किया। सुनील दत्त ने संजय के लिए रॉकी फिल्म बनाई और फिल्म हिट रही।

रॉकी की रिलीज से 4 दिन पहले ही नरगिस गुजर गई। मां की मौत के बाद तो संजय का ड्रग्स लेना और बढ़ गया.फिल्में हाथ से जाने लगी..लेकिन इस घड़ी में सुनील दत्त ने बहुत पेसेंश से काम लिय़ा। बेटे संजय को लेकर वो अमेरिका के रिहैब सेंटर पहुंचे और संजय को नई जिंदगी दी।

संजय दत्त की माने तो वो कभी भी नशे की दुनिया से बाहर नहीं पाते अगर पापा सुनील दत्त ने साथ नहीं दिया होता। 1993 में भी जब संजय दत्त टाडा में फंसे थे। उस वक्त सुनील दत्त ने संजय का पूरा साथ निभाया।सुनील दत्त को इस बात का बहुत गम रहा कि उनके बेटे की जिंदगी काफी उथल पुथल भरी रही। 

संजय अपनी मां नरगिस के बहुत करीब थे। नरगिस की मौत के बाद से ही संजय की जिंदगी में मुश्किले बढ़ती चली आई। लेकिन सुनील दत्त को अपने बेटे पर भरोसा था कि फिल्मों की एंड तरह उनके बेटे की लाइफ में भी सबकुछ अच्छा होगा और हुआ भी ऐसा ही। 

फिल्म मुन्ना भाई एमबीबीएस में सुनील दत्त ने संजय के साथ पहली बार काम किया। परदे पर सुनील दत्त मुन्ना भाई के पापा के रोल में दिखे । मुन्ना भाई सीरिज की फिल्मों ने संजय दत्त की पूरी इमेज बदल दी। उनका करियर चमकने लगा। फिर धीरे धीरे जब बेटे की लाइफ संभल गई तब पापा सुनील दत्त ने सुकून से आखिरी सांसे ली।

Related Story