प्रतीक बब्बर अपने पिता से इतनी नफरत क्यों करते थे ? जानिए क्या था पिता बेटे के बीच खटास का कारण ?

By Arunima June 22, 2020, 11:05 p.m. 1k

नम्रता शर्मा  -   80 के दशक के जबरदस्त एक्टर राज बब्बर ने हिंदी सिनेमा में अपना एक अलग मुकाम बनाया है। 23 जून 1952 को राज बब्बर का जन्म उत्तर प्रदेश के टूंडला में हुआ था। थिएटर से शुरू हुआ राज बब्बर का सफर फिल्मी दुनिया में ऊंचाइयों तक पहुंचा। प्रेम गीत, उमराव जान, निकाह, अगर तुम ना होते, मजदूर, मेहंदी, आज की आवाज, सलमा और हकीकत समेत तमाम हिट फिल्में राज बब्बर के नाम रही हैं। इसके अलावा राज बब्बर ने राजनीति में भी अच्छा मुकाम हासिल किया। उन्होंने अपने राजनीतिक(Political) करियर की शुरुआत 1989 में की थी। 

फिलहाल राज बब्बर कांग्रेस (Congress) पार्टी से जुड़े हुए हैं। राज बब्बर अपनी निजी जिंदगी को लेकर भी काफी चर्चाओं में रहे। राज बब्बर ने दो शादियां की थी। क्या आप जानते हैं राज बब्बर के बेटे प्रतीक बब्बर से नहीं बनती। यहां तक की प्रतीक की शादी में भी राज बब्बर शरीक नहीं हो पाए थे।  प्रतीक ने तो अपने नाम के आगे से बब्बर सरनेम भी हटा लिया था लेकिन बाद के दिनों में दोनों के रिश्ते बेहतर हुए। 

आपको बता दें राज बब्बर की पहली शादी नादिरा से हुई थी। उन दिनों राज बब्बर बॉलीवुड में फिल्म पाने के लिए काफी स्ट्रगल(Struggle) कर रहे थे। इस बीच उनकी जिंदगी मैं नादिरा आई ।दोनों को प्यार हुआ और 1975 में दोनों ने शादी कर ली। दोनों की शादी अच्छी चल रही थी कि 1984 में आई फिल्म आज की आवाज के दौरान राज बब्बर स्मिता पाटिल को अपना दिल दे बैठे।

दोनों के बीच नज़दीकियां इतनी बढ़ गई कि उस दौर में दोनों लिव-इन में रहने लगे। कहा जाता है राज बब्बर पर स्मिता का जादू इस कदर था कि साल 1986 को उन्होंने अपनी पत्नी नादिरा को छोड़ स्मिता पाटिल से शादी कर ली थी। राज बब्बर(Raj Babbar) ने नादिरा को छोड़कर स्मिता के साथ अपना आशियाना बसा लिया था।

शादी के एक साल के अंदर ही स्मिता पाटिल ने एक बेटे को जन्म दे दिया जिसका नाम राज और स्मिता ने प्रतीक रखा, लेकिन अफसोस बेटे को जन्म देने के 2 हफ्ते बाद ही 13 दिसंबर 1986 को स्मिता पाटिल का निधन हो गया। स्मिता के निधन के बाद राज फिर से अपनी पहली पत्नी नादिरा के पास लौट गए। नादिरा(Nadira) और राज दो बच्चों के पेरेंट्स हैं जिनके नाम जूही और आर्य है।

प्रतीक बब्बर(Pratiek Babbar) अपनी मां स्मिता पाटिल(Smita Patil) की मौत का जिम्मेदार कई सालों तक राज बब्बर को मानते रहे। उनको लगता था अगर राज चाहते तो वो आखिरी समय में उनकी मां के साथ होते और उन्हें बचा सकते थे। लिहाजा प्रतीक पिता राज बब्बर से नफरत करते रहे और अपनी मां की मौत का कारण मानते रहे। आलम ये था कि प्रतीक पिता राज बब्बर के सरनेम को लगाना भी पसंद नहीं करते थे।

हालांकि धीरे-धीरे पिता बेटे में दूरियां कम हुई और दोनों के रिश्ते सुधरे दोनों अब एक साथ दिखाई देते हैं। 21 जून को फादर्स डे (Father's Day) के मौके पर प्रतीक ने पापा राज को किस करते हुए फोटो पोस्ट की और एक प्यारा सा कैप्शन(Caption) लिखा।

प्रतीक ने बॉलीवुड में कई फिल्मों में काम किया है। एक दीवाना था, इसक, मुल्क, मित्रों समेत तमाम फिल्में प्रतीक ने की है। इसके अलावा प्रतीक सुशांत सिंह राजपूत स्टार फिल्म छिछोरे (Chhichhore) में भी नजर आए थे।

Related Story