Film Review - युद्ध पर बनी बॉलीवुड की बेस्ट फिल्म है तानाजी, अजय और सैफ का शानदार काम

By Neetu Jan. 10, 2020, 5:25 p.m. 1k

फिल्म - तानाजी-द अनसंग वॉरियर 

कलाकार - अजय देवगन, सैफ अली खान, काजोल, शरद केलकर, नेहा 

डायरेक्टर - ओम राउत 

समीक्षा -  नीतू कुमार 

रेटिंग्स - 4.5 स्टार

मराठा शौर्य और वीरता की कहानी है तानाजी द अनसंग वॉरियर ( Tanhaji - The Unsung Warrior )। इतिहास के पन्नों में छुपे एक ऐसे योद्धा की शौर्यगाथा जिसके बारे में बहुत लोग नहीं जानते थे। मराठा सूबेदार तानाजी मालुसरे एक ऐसे ही योद्धा थे जिनके बारे में इतिहास में बहुत कम जिक्र मिलता है। तानाजी ( Tanhaji) मालुसुरे शिवाजी के दाहिने हाथ कहलाते थे। 4 फरवरी 1670 को हुआ था सिंहगढ़ का युद्ध। इस युद्ध में मुगलों से तानाजी ने कोंढाना का किला मराठों ने जीता था। कोंडाना किले को जीतने की लड़ाई में जब तानाजी मारे गए, तो शिवाजी महाराज ने कहा था- ‘गढ़ तो आया, पर सिंह चला गया।’  शिवाजी ने उसके बाद कोंडाना का नाम बदल कर सिंहगढ़ कर दिया। अजय देवगन ( Ajay Devgn ) की फिल्म ताना जी को हिंदी फिल्म इंडस्ट्री की सर्वश्रेष्ठ वॉर फिल्म कह सकते हैं। 

कहानी - शिवाजी वो मराठा शासक थे जिन्होंने मुगलों को कई बार युद्ध में धूल चटाया। उनका सपना था पूरे भारत वर्ष में स्वराज कायम करने का। दक्षिण के ज्यादातर इलाके उनके अधीन थे। उसी दौरान औरंगजेब के दिल में दक्षिण भारत में साम्राज्य फैलाने की इच्छा हुई लेकिन शिवाजी के रहते ये असंभव था। औरंगजेब में दक्षिण भारत में पैर पसारने के मुहिम की जिम्मेदारी राजपूत योद्धा उदयभान ( सैफ अली खान Saif Ali Khan)  को दी। वहीं शिवाजी की मां जीजाबाई ने भी प्रण ले लिया था कि जबतक कोंढाना का किला मराठों के अधीन नहीं आता वो अपने पैर में जूते नहीं पहनेंगी। शिवाजी जानते थे कि कोंढाना का किला मुगलों से तानाजी मालुसुरे ( अजय देवगन  Ajay Devgn) ही जीत सकते हैें। तानाजी अपनी पत्नी सावित्री बाई मालसुरे ( काजोल Kajol  ) के साथ बेटे राब्या की शादी की तैयारी में व्यस्त थे इसी वजह से शिवाजी उनपर युद्ध का बोझ नहीं डालना चाहते थे लेकिन तानाजी को पता चल जाता है कि उदयभान शिवाजी के स्वराज के लिए खतरा बन रहा है लिहाजा वो कोंढाना को जीतने निकल पड़ते हैं। कोंढाना ऊंची पहाड़ी पर स्थित था। वहां पहुंचने के रास्ते बहुत मुश्किल थे लेकिन तानाजी और खुफिया रास्ते के जरिए किले पर चढ़ते हैं और विजय हासिल करते हैं। 

खासियत - तानाजी द अनसंग वॉरियर को हिंदी फिल्म इंडस्ट्री का बाहुबली कह सकते हैं। कोंढाना किले पर मराठों के चढ़ाई और युद्ध के सीन बहुत प्रभावित करते हैं। फिल्म में विजुअल इफेक्ट्स कमाल के हैं। 3D में फिल्म गजब दिखती है। युद्ध के दृश्यों में जब भाले चलते हैं तो आप अपनी गर्दन दाएं-बाएं करने लगते हैं।

। तानाजी के किरदार में अजय देवगन शानदार हैं। मराठा योद्धा तानाजी के किरदार में वो खूब जंचे हैं। वहीं सैफ अली खान उदयभान के रोल में जबरदस्त हैं। उनकी धुर्तता और क्रूरता वाले सीन्स लाजवाब हैं। काजोल को बहुत ज्यादा स्पेस नहीं मिला है लेकिन छोटे रोल में भी वो बड़ा असर छोड़ती हैं। अजय के साथ उनकी केमिस्ट्री बहुत दिलचस्प है। शिवाजी के रोल में शरद केलकर असरदार रहे हैं। वहीं डायरेक्टर ओम राउत की सबसे ज्यादा तारीफ होनी चाहिए। उन्होंने युद्ध पर बेस्ड बेहतरीन की फिल्म बनाई है। फिल्म के डॉयलॉग्स बहुत अलग और उम्दा है। तानाजी से साल 2020 में  सुपरहिट फिल्मों का सिलसिला शुरू होगा। पहले दिन फिल्म की कमाई 30 से 40 करोड़ के बीच हो सकती है। इतिहास की ये गाथा अपने बच्चों को जरूर दिखाइये। हमारी तरफ से फिल्म को 4.5 स्टार । 

 

Related Story