सुशांत सिंह राजपूत की विसरा रिपोर्ट आई नेगेटिव, शरीर में जहर या कोई केमिकल नहीं पाया गया !

By Neetu July 1, 2020, 11:59 a.m. 1k

नम्रता शर्मा -  सुशांत सिंह राजपूत(Sushant Singh Rajput) को गुजरे हुए 2 हफ्ते से ज्यादा का वक्त हो गया है लेकिन अभी तक ये साफ नहीं हो पाया कि आखिर सुशांत ने इतना बड़ा कदम किस वजह से उठाया था। सुशांत आत्महत्या मामले की सीबीआई जांच की मांग लगातार सोशल मीडिया पर उठ रही है। 

इसी बीच सुशांत की विसरा रिपोर्ट आ गई है। सुशांत कि ये विसरा रिपोर्ट नेगेटिव(Negative) आई है जिसका मतलब है कि सुशांत ने अपने खाने में कुछ भी गलत और जहरीला नहीं खाया था। सुशांत की विसरा रिपोर्ट को जांच के लिए जेजे अस्पताल भेजा गया था जहां पर गहनता से जांच की गई और ये रिपोर्ट नेगेटिव पाई गई।

हाल ही में आई सुशांत की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से भी साफ हो गया था कि उनकी मौत फांसी लगाने के कारण दम घुटने से हुई है। जितनी भी खबरें सुशांत की आत्महत्या से जुड़ी वायरल हो रही थी मसलन गले पर निशान, उनके शरीर पर जोर जबरदस्ती(Struggling) के निशान आदि इन सब खबरों पर पोस्टमार्टम की रिपोर्ट ने लगाम लगा दी थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने बताया था कि जैसी खबरें फैल रही थी ऐसा कुछ नहीं है। कोई जोर जबरदस्ती के निशान सुशांत की बॉडी पर नहीं पाए गए हैं। डॉक्टरों की रिपोर्ट के मुताबिक ये सिर्फ एक आत्महत्या का मामला ही है।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद भी कई लोगों ने सवाल उठाए थे  शेखर सुमन ने कहा था कि जितना हम देख पा रहे हैं उससे कहीं ज्यादा इसके पीछे छुपा हुआ है। सुशांत को न्याय दिलाने की बात करते हुए शेखर सुमन(Shekhar Suman) ने एक फोरम की भी शुरुआत की है जिसका नाम जस्टिस फॉर सुशांत(Justice For Sushant) रखा गया है। इतना ही नहीं हाल ही में शेखर सुमन ने सुशांत के परिवार से मुलाकात भी की थी। शेखर सुमन इस फोरम के जरिए ज्यादा से ज्यादा लोगों से अपील कर रहे हैं कि वो जुड़े और सरकार पर दबाव बनाए ताकि इस केस को सीबीआई को सौंपा जा सके। 

बहरहाल सुशांत की पोस्टमार्टम(Postmortem) और बिना रिपोर्ट के आधार पर पुलिस का यही कहना है कि ये सिर्फ एक सुसाइड है।हालांकि अभी तक ये कारण साफ नहीं हो पाया कि सुशांत ने आखिर सुसाइड जैसा कदम क्यों उठाया। आपको बता दें मुंबई पुलिस अब तक 28 से ज्यादा लोगों से पूछताछ कर चुकी है। इनमें सुशांत के करीबी उनके दोस्त और उनके परिवार वाले शामिल हैं।

सोशल मीडिया(Social media) पर सुशांत आत्महत्या मामले को सीबीआई को सौंपने की मांग उठ रही है। फैंस ये मानने के लिए तैयार ही नहीं है कि सुशांत ऐसा कदम उठा सकते हैं क्योंकि सब जानते हैं सुशांत एक बेहद जिंदादिल इंसान थे। आपको बता दें 14 जून को सुशांत रे बांद्रा स्थित अपने फ्लैट में फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या(Suicide) कर ली थी। सुशांत आत्महत्या से पहले कोई भी सुसाइड नोट छोडकर नहीं गए हैं।

Related Story