सुशांत सिंह राजपूत की याद में पटना में निकाला गया कैंडल मार्च, बॉयकॉट नेपोटिज्म के लगे नारे

By Neetu June 17, 2020, 7:17 p.m. 1k

नम्रता शर्मा  -  सुशांत सिंह राजपूत(Sushant Singh Rajput) भले ही इस दुनिया को अलविदा कह गए हों लेकिन उनका यू एकाएक जाना अभी भी हर किसी को हजम नहीं हो रहा है। रह-रहकर सब को टीस हो रही है कि काश ! सुशांत वापस आ सकते। काश ! उस वक्त उनको ये कदम उठाने से रोकने वाला कोई तो होता। इन्हीं पछतावों के बीच देशभर में सुशांत के जाने का शोक मनाया जा रहा है। सुशांत की याद में पटना में कैंडल मार्च निकाला गया। इस दौरान काफी तादाद में लोग नजर आए। मुंह पर मास्क लगाए ये सभी लोग अपने हीरो की याद में एकजुट हुए।

इस कैंडल मार्च के जरिए सुशांत को तो याद किया ही गया, साथ ही उनके के निधन के बाद शुरू हुए नेपोटिज्म वॉर की झलक भी देखने को मिली। इस कैंडल मार्च(Candle March) में लोग अपने हाथों में बैनर लिए नजर आए। इन पोस्टर और बैनर पर लिखे बॉयकॉट नेपोटिज्म(Boycott Nepotism) , यूथ आर्मी जैसे स्लोगन साफ दर्शा रहे थे कि बॉलीवुड में स्टार किड्स को इस विरोध का सामना करना पड़ सकता है। सोशल मीडिया(Social media) पर इस कैंडल मार्च की फोटोज़ काफी वायरल हो रही हैं। 

आपको बता दें सुशांत के निधन के बाद से ही बॉलीवुड भी दो खेमों में बट गया है। एक तरफ कंगना रनौत, रणवीर शौरी, रवीना टंडन, निखिल द्विवेदी, शेखर कपूर जैसे सितारे हैं जो आगे आकर इंडस्ट्री का काला सच बाहर ला रहे हैं और बता रहे हैं कि इंडस्ट्री में भाई भतीजावाद है।

दूसरी तरफ कुछ सितारे इस पूरे बवाल से दूरी बनाए बैठे हैं। ऑडियंस में भी करण जौहर ,आलिया भट्ट, भंसाली के खिलाफ गुस्सा फूट रहा है। अब तक इन सितारों के सोशल मीडिया अकाउंट पर फैन फॉलोइंग (Fan Following) भी कम हो चुकी है।इतना ही नहीं करण जौहर समेत आठ लोगों के खिलाफ बिहार के मुजफ्फरपुर में केस दर्ज हुआ है। एक वकील ने आरोप लगाए हैं कि इन सभी बड़े प्रोड्यूसर ने सुशांत को काम देना बंद कर दिया था। लिहाजा वो डिप्रेशन(Depression) में चले गए और उन्होंने ये कदम उठा लिया।

सुशांत को उनके चाहने वाले अपने अपने तरीके से श्रद्धांजलि दे रहे हैं। सुशांत की फिल्म काई पोचे के डायरेक्टर अभिषेक कपूर(Abhishek Kapoor) ने 3400 जरूरतमंद लोगों को खाना खिलाने का ऐलान किया है। दूसरी तरफ एकता ने 18 जून को प्रार्थना सभा (Prayer Meet) का आयोजन किया है। ये सब सुशांत को श्रद्धांजलि देने के लिए किया जा रहा है।

Related Story