बॉलीवुड में इन सितारों ने दी है ‘नेपोटिज्म’ को मात । आउटसाइडर होने के बावजूद बने स्टार !

By Neetu June 18, 2020, 8:02 p.m. 1k

पूजा राजपूत-बॉलीवुड में इन दिनों ‘नेपोटिज्म’ को लेकर जबरदस्त बहस छिड़ी हुई है। कई मशहूर फिल्ममेकर्स पर इल्ज़ाम लग रहा है, कि वह टैलेंटेड कलाकारों की बजाए फिल्मी परिवार से आए स्टार किड्स को प्राथमिकता देते हैं। इसी बीच बॉलीवुड में कई सितारे ऐसे हैं जिन्होने नेपोटिज्म’ को मात दी है । आउटसाइडर होने के बावजूद उन्होने इंडस्ट्री में अपना खास मुकाम बनाया है ।

शाहरूख खान –

बॉलीवुड के बादशाह शाहरुख खान गैर फिल्मी परिवारों से बॉलीवुड में आए युवाओं के लिए जीती जागती मिसाल है। शाहरूख खान ने अपने करियर की शुरुआत टीवी सीरियल से ‘फौजी’ से की थी। 1992 में उनकी डेब्यू फिल्म ‘दिवाना’ रिलीज़ हुई थी। 

अक्षय कुमार-

खतरों के खिलाड़ी कहलाते हैं अक्षय कुमार। अमृतर से दिल्ली और फिर दिल्ली से फिल्मी नगरिया मुंबई का लंबा सफर अक्षय ने तय किया है। बॉलीवुड में एन्ट्री करने से पहले अक्षय कुमार बैंकॉक में वेटर की जॉब किया करते थे। अक्षय ने 1991 में आई फिल्म ‘सौगंध’ से बॉलीवुड में डेब्यू किया था।

प्रियंका चोपड़ा –

आउटसाइडर होने के बावजूद प्रियंका चोपड़ा ने सफलता का वो मुकाम हासिल किया है, जिसे उनकी समकालिन अभिनेत्रियां छू भी नहीं पाई हैं। सिर्फ 18 साल की उम्र में प्रिंयका चोपड़ा मिस वर्ल्ड का ताज पहन चुकी थी। फिल्म ‘अंदाज़’ से प्रियंका ने बॉलीवुड में कदम रखा। आज प्रियंका बॉलीवुड के साथ-साथ हॉलीवुड में नाम कमा चुकी हैं। 

अनुष्का शर्मा-

पहली फिल्म में ही शाहरूख खान जैसे सुपरस्टार के अपोजिट लीड रोल करना अनुष्का शर्मा के लिए किसी सपने के पूरे होने से कम नहीं था। अनुष्का मुंबई आईं तो थी मॉडलिंग की दुनिया में नाम कमाने के लिए। लेकिन किस्मत उन्हें बॉलीवुड में खींच लाई। और अब अनुष्का इंडस्ट्री की टॉप एक्ट्रेसेस में गिनी जाती हैं।

दीपिका पादुकोण-

दीपिका पादुकोण अपने पिता प्रकाश पादुकोण की तरह देश के लिए बैंडमिंटन खेलना चाहती थीं। लेकिन लक बाय चांस वह बॉलीवुड में आ गईं। पहली फिल्म ‘ओम शांति ओम’ में उन्हें शाहरुख खान के अपोजिट रोल करने का मौका मिला। आज दीपिका इंडस्ट्री में सबसे ज्यादा फीस लेने वाली एक्ट्रेस हैं।

कंगना रनौत-

कंगणा रनौत उन एक्टर्स में से है, जो खुलकर बॉलीवुड में नेपोटिज्म का विरोध करती हैं। कंगना बेखौफ  कह चुकी हैं कि उन्हें आउटसाइडर होने की वजह से इंडस्ट्री में कई बार नेपोटिज्म का शिकार होना पड़ा है। इंडस्ट्री में कोई गॉड-फादर ना होने के बावजूद कंगना इंडस्ट्री की सभी महंगी हिरोइंस में से एक हैं।

रणदीप हुड्डा –

अपनी डैशिंग पर्सनैलिटी और अलग तरह के डायलॉग डिलिवरी अंदाज़ ने रणदीप हुड्डा को फैंस के बीच काफी पॉपुलर बनाया है। रणदीप हुड्डा ने मेलबॉर्न यूनिवर्सिटी से मार्केटिंग में डिग्री ली हुई है।उन्होने करियार की शुरुआत थियेटर से की थी। और फिर थियेटर से बॉलीवुड की दुनिया में आ गए।

नवाज़ुद्दीन सिद्दकी-

अभिनेता नवाज़ुद्दीन सिद्दकी ने साबित किया है कि अगर टैलेंट है तो बॉलीवुड में आगे बढ़ना से कोई नहीं रोक सकता। नवाज़ ने अपने करियर की शुरुआत बॉलीवुड फिल्मों में छोटे-छोटे रोल्स करने से की थी। आज वह इंडस्ट्री में जाना-पहचाना नाम हैं। दुनिया भर में उनके फैंस हैं.

 

जॉन एब्राहम –

जॉन अब्राहम ने शोबिज़ की दुनिया में Jazzy B के गाने सूरमा से कदम रखा था। उनकी पहली फिल्म 2003 में आई फिल्म ‘जिस्म’ थी। आज जॉन इंडस्ट्री के टॉप एक्शन स्टार हैं।

राजकुमार रॉव-

अपने बेहतरीन एक्टिंग टैलेंट से राजकुमार रॉव ने सभी का दिल जीता है। FTI से डिग्री हासिल करने वाले राजकुमार ने अपने करियर की शुरूआत थियेटर से की थी। धीरे-धीरे राजकुमार ने बॉलीवुड में अपना अलग मुकाम हासिल किया।

आयुष्मान खुराना–

नेशनल अवॉर्ड विनर आयुष्मान खुराना ने अपने करियर की शुरुआत बतौर RJ की थी। बॉलीवुड में उन्होने कदम रखा फिल्म ‘विक्की डोनर’ से । आयुष्मान अक्सर ऐसी फिल्में चुनते हैं जिनका सब्जेक्ट हर किसी को हैरान कर जाता है। और वह दर्शकों का दिल जीत ले जाते हैं।

Related Story