SONU SOOD एक बार फिर बने मसीहा, 50 प्रवासी मजदूरों को दिल्ली से बिहार उनके घर भेजा।

By Neetu June 30, 2020, 7:15 p.m. 1k

सारिका स्वरूप - बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद (Sonu Sood) कोरोना वायरस (Corona virus) के संकट से जूझ रहे प्रवासी श्रमिकों के लिए मसीहा के तौर पर उभरकर सामने आए हैं। फिल्मों में विलेन बनने वाले एक्टर सोनू सूद इस वक्त देश की जनता के लिए सुपरहीरो बन चुके हैं। अब हर प्रवासी मजदूरों कि घर जाने से लेकर उनकी हर तकलीफ में सोनू से मदद कि उम्मीद बंध चुकी है । सोनू लगातार प्रवासी श्रमिकों को उनके घर भेजने का काम कर रहे हैं। घर भेजने के सोनू उनके लिए खाने-पीने तक का इंतजाम भी खुद कर रहे हैं।

अब हाल ही में सोनू ने राजधानी दिल्ली से बिहार के लिए बस भेजी हैं। जिसमें उन्होनें 50 प्रवासी मजदूरों को उनके घर भेजा है। मजदूरों को घर भेजने के साथ- साथ सोनू ने उनके खाने पीने का भी पूरा इंतजाम किया है। बता दे जबसे लॉकडाउन हुआ है तबसे सोनू लगातर हजारों कि संख्या में प्रवासी मजदूरों को उनके घर भेज चुके है। वही सोनू सूद ने न सिर्फ प्रवासियों को उनके घर पहुंचाया, बल्‍क‍ि मुंबई में अपने होटल्‍स के दरवाजे भी कोरोना वॉरियर्स के लिए खोल दिए है। इसके अलावा सोनू ने पंजाब में डॉक्‍टरों के लिए पीपीई किट भी दान किया था।

सोनू के इस नेक काम कि सराहना पूरे देश में कि जा रही है। वही अब सोनू के फैन्स सरकार से सोनू के इस नेक काम के लिए उन्हें 'भारत रत्‍न' देने की मांग कर रहे हैं। इन दिनो ट्विटर पर सोनू को 'भारत रत्‍न' दिए जाने की मांग ट्रेंड हो रहा है। 

यूजर्स ट्वीट कर बोल रहे कि सोनू सूद कोरोना संक्रमण के इस दौर में मजदूरों और गरीबों के लिए किसी देवता से कम नहीं हैं। ऐसे में इन्हें भारत रत्‍न मिलना ही चाहिए।

Related Story