ट्रोलर्स को नेहा ने दिया जवाब, कहा-औरतों पर हिंसा के खिलाफ हूं।

By Neetu March 15, 2020, 12:27 a.m. 1k

नेहा धूपिया (Neha Dhupia)  को पिछले कुछ दिनों से खबरों में बनी हुई हैं। सोशल मी़डिया पर  उन्हें खूब ट्रोल किया जा रहा है। नेहा के कंट्रोवर्सी में ( Neha Dhupia Controversy ) आने की वजह है उनका शो रोडीज। नेहा का ही  एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें वो एक कंटेस्टेंट की क्लास लगा रही थीं। MTV Roadies के एक प्रतियोगी ने नेहा और अन्य जजेस के सामने कहा था कि उनकी गर्लफ्रेंड उसे धोखा दे रही थी इसलिए उनसे उसे थप्पड़ मारा था। कंटेस्टेंट की ये बात सुनकर नेहा धूपिया को गुस्सा आ गया। गुस्से में उन्होंने प्रतियोगी को गाली तक दे दी थी। नेहा धूपिया ने ये कहानी सुनने के बाद कहा, 'ये जो तू बोल रहा है न कि तूने अपनी गर्लफ्रेंड को थप्पड़ा मारा। सुन मेरी बात ये उसकी पसंद है। परेशान तुम्हारे साथ है। तुम्हें ये किसने अधिकार दिया कि तुम एक लड़की को थप्पड़ मारो।' अब ट्विटर पर नेहा के इस बर्ताव का कड़ा विरोध हो रहा है। 

 

वीडियो के वायरल होने बाद नेहा की जमकर ट्रोलिंग हो रही है। दो दिन की चुप्पी के बाद अब नेहा ने अपनी बात कहीं है। सोशल मीडिया पर उन्होंने एक लेटर शेयर किया है।

 

उन्होंने लिखा है, " मैं पिछले पांच सालों से रोडीज का हिस्सा हूं। मैंने शो में वायलेंस के खिलाफ आवाज उठाई मगर पिछले कुछ समय से मेरे साथ ठीक नहीं हो रहा। मैंने हिंसा के खिलाफ आवाज उठाई मगर दुर्भाग्य ये है कि मुझे समझा नहीं गया। एक शख्स ने बताया कि उसकी गर्लफ्रेंड ने उसे धोखा दे दिया था। इस वजह से उसने उसे एक थप्पड़ मार दिया।ये बात मुझे गलत लगी और मैंने उसकी क्लास ली।नेहा ने आगे कहा कि हर शख्स की अपनी पसंद है और उसे इसका पूरा हक है कि वो अपनी पसंद-नापसंद के मुताबिक चले मगर किसी के साथ मारपीट करना नहीं है। पिछले दो हफ्ते से मेरे पेज ही नहीं बल्कि मेरे परिवार, दोस्तों और टीम मेट्स को भी गाली दी जा रही  हैं। मेरे पापा को  भी व्हाट्सऐप पर गालि यां दी जा रही हैं। यहां तक कि मेरी बेटी के पेज पर लोग गालियां लिख रहे हैं और ये मुझे मंजूर नहीं है। 

चाहें जो भी हो मैं औरत पर हाथ उठाने के खिलाफ हमेशा खड़ी रहूंगी। जाहिर है कि एक महिला के मुकाबले एक पुरुष के पास शारीरिक बल ज्यादा होता है। महिलाओं के साथ घरेलू हिंसा सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि दुनियाभर में एक बड़ी समस्या है। मैं लोगों से गुज़ारिश करती हूं कि वो  हिंसा को लेकर सतर्क हो जाएं। अगर कोई इसका शिकार है तो वो बेझिझक इसके खिलाफ आवाज उठाए।इस बात का ध्यान रखा जाए कि वे अकेले नहीं हैं।

Related Story