बॉलीवुड से आई एक और बुरी खबर ! मशहूर डायरेक्टर बासु चटर्जी का निधन !

By Neetu June 4, 2020, 4:58 p.m. 1k

नम्रता शर्मा - साल 2020 बॉलीवुड जगत पर हर दिन ग्रहण लगा रहा है। इंडस्ट्री एक गम से उभर नहीं पाती कि दूसरा झटका लग जाता है। इस साल ने शुरुआत में ही कई सितारों को हम सभी से दूर कर दिया। चाहे इरफान खान (Irrfan Khan) हो या फिर ऋषि कपूर(Rishi Kapoor) । दोनों के सदमे से बॉलीवुड जगत पार पाने की कोशिश में लगा हुआ था कि फिर वाजिद खान के इंतकाल ने सभी को हैरान कर दिया। इसी बीच  वेटरन डायरेक्टर और स्क्रीन राइटर बसु चैटर्जी(Basu Chatterjee) का 90 साल की उम्र में मुंबई में निधन हो गया। हालांकि अभी तक ये साफ नहीं हो पाया है कि उनके निधन का कारण लंबे वक्त से चली आ रही कोई बीमारी थी या फिर कुछ और कारण था। बसु के निधन के बाद बॉलीवुड जगत में शोक की लहर है। हर कोई उनके निधन पर शोक व्यक्त कर रहा है। 

IFTDA के प्रमुख अशोक पंडित (Ashok Pandit) ने बसु चैटर्जी के जाने की जानकारी ट्विटर के जरिए दी और दुख जाहिर किया। बसु चैटर्जी को छोटी सी बात, रजनीगंधा, बातों बातों में, एक रुका हुआ फैसला और चमेली की शादी जैसी फिल्मों के डायरेक्शन के लिए जाना जाता है। बसु चटर्जी का अंतिम संस्कार सांताक्रुज श्मशान घाट में होगा।

30 जनवरी 1930 को अजमेर में जन्मे बसु चैटर्जी ऐसे पहले फिल्मकार थे जिन्होंने अपनी एक अलग शैली पैदा की। मिडिल क्लास फैमिली की जिंदगी में रोजमर्रा की घटनाओं को फिल्म की कहानी में पिरोने के लिए बसु जाने जाते थे। 

बसु चटर्जी ने ना सिर्फ हिंदी सिनेमा बल्कि बंगाली सिनेमा में भी काम किया और एक अच्छा खासा मुकाम हासिल किया। फिल्ममेकर ऋषिकेश मुखर्जी(Hrikesh Mukherjee) के साथ मिलकर तो बसु ने एक से बढ़कर एक फिल्मों की कहानी को बयां किया।

70 के दशक में जब एंग्री यंग मैन (Angry young man) का जादू हर तरफ आया था उस दौर में बसु ने कुछ ऐसी फिल्में की थीं जिन्होंने हर एक आम आदमी को उनकी फिल्मों से जोड़ा। अमोल पालेकर के साथ बसु ने छोटी सी बात, रजनीगंधा और चितचोर(Chitchor) जैसी फिल्में की। बसु ने उस दौर के सभी बड़े कलाकारों के साथ काम किया।बिग बी के साथ मंजिल बनाई, चक्रव्यू में राजेश खन्ना को कास्ट किया। शौकीन में मिथुन चक्रवर्ती तो मनपसंद में देवानंद। बसु की फिल्म एक रुका हुआ फैसला की चर्चा तो आज भी की जाती है।

90 के दशक के सीरियल ब्योमकेश बक्शी (Byomkesh Bakshi) के साथ भी वो जुड़े हुए थे। 1992 में बसु को दुर्गा के लिए नेशनल अवार्ड(National Award) मिला था। 

Related Story