सड़क हादसे ने तबाह किया था MAHIMA CHOUDHARY का करियर ! चेहरे में घुस गए थे 67 कांच के टुकड़े !

By Neetu June 9, 2020, 6:18 p.m. 1k

नम्रता शर्मा - बॉलीवुड की जानी पहचानी एक्ट्रेस महिमा चौधरी (Mahima Chaudhary) लंबे वक्त से फिल्मों से दूर हैं। आखिरी बार महिमा को 2016 में डार्क चॉकलेट(Dark Chocolate) नाम की फिल्म में देखा गया था, लेकिन उनकी आखिरी यादगार फिल्म शायद गोविंदा के साथ साल 2005 में आई सैंडविच(Sandwich) थी। एक वक्त पर स्टारडम का स्वाद चख रही महिमा अब गुमनामी की जिंदगी जी रही हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं महिमा ने अपने जीवन में एक भीषण हादसे का भी सामना किया था। ये हादसा इतना भयानक था कि इसका असर महिमा के चेहरे पर भी पड़ा था ,लिहाजा बाद में उनको अच्छी फिल्में मिलनी बंद हो गई थी।

                                                     Mahima Chaudhary In Pardes

महिमा चौधरी ने शाहरूख खान के साथ साल 1997 में फिल्म परदेस से बॉलीवुड इंडस्ट्री में कदम रखा था। इस फिल्म को ऑडियंस ने काफी प्यार दिया था। पहली ही फिल्म से महिमा फिल्मेकर्स(Filmmakers) के साथ-साथ ऑडियंस के दिलों में अपनी जगह बनाने में कामयाब हो गई थी। फिल्म रिलीज के 2 साल बाद यानी साल 1999 में अजय देवगन(Ajay Devgn) और काजोल(Kajol) के साथ महिमा दिल क्या करे की शूटिंग कर रही थी एक रात शूटिंग से घर लौटते वक्त बेंगलुरु में महिमा का एक्सीडेंट हो गया था। पीछे से आ रहे एक तेज रफ्तार ट्रक ने महिमा की गाड़ी को बुरी तरह से रौंद दिया जिसकी वजह से गाड़ी का कांच सीधा महिमा के चेहरे में घुस गया था। 

                                                                        Mahima Chaudhary

महिमा ने हाल ही में दिए गए एक इंटरव्यू में अपनी जिंदगी के इस बुरे दौर को याद किया। महिमा ने बताया कि जब ये सड़क हादसा हुआ मुझे ऐसा लगा कि मैं मर रही हूं। कोई भी मदद के लिए नहीं आ रहा था। मुझे याद नहीं कौन मुझे अस्पताल (Hospital) लेकर गया।अस्पताल में मेरी मां और अजय देवगन मुझसे मिलने के लिए आए थे। मैं भी थोड़ा होश में आई ,उठकर अपना चेहरा शीशे में देखा तो बहुत डरावना था।

                                                              Mahima Chaudhary

दरअसल मेरे चेहरे की सर्जरी की जा चुकी थी और इस दौरान 67 कांच के टुकड़े मेरे चेहरे से निकाले गए थे। मैं ये देख बहुत रोई और बहुत परेशान हो गई थी और सबसे ज्यादा मुझे इस बात की हैरानी हुई कि मेरे चेहरे में 67 कांच के टुकड़े घुस गए थे।  इस सर्जरी(Surgery) से उबरने में मुझे लंबा वक्त लगा।

                                                           Mahima Chaudhary

इस दौरान मैं घर पर ही रहना पसंद करती थी। सूरज की रोशनी से दूर भागती थी और तो और अपना चेहरा शीशे में देखने में भी मुझे डर लगता था। मुझे मेरा कैरियर(Career) खत्म होता हुआ साफ दिखाई दे रहा था। लग रहा था अब मुझे कौन अपनी फिल्म में कास्ट करेगा। एक्सीडेंट से पहले मेरे पास कई फिल्में थी लेकिन उस दौरान उन सब से मुझे हाथ धोना पड़ा। मुझे लगता है उस वक्त लोग ज्यादा सपोर्टिव(Supportive) नहीं हुआ करते थे।

                                              Mahima Chaudhary

महिमा ने कहा अगर उस दौर की बात करूं तो लोग कुछ इस तरह से बातें करते होंगे - ओह, इसका चेहरा खराब हो गया, चलो किसी और को साइन कर लेते हैं ,लेकिन धीरे-धीरे महिमा इस दर्द से उबरने लगी और फिर वो धड़कन(Dhadkan) के स्पेशल सॉन्ग में भी परफॉर्म करती नजर आई, लेकिन महिमा ने ये भी माना कि मैं बहुत कमजोर पड़ गई थी। मुझे मेरे परिवार ने सहारा दिया और एक बार फिर बाहर की दुनिया को जीना सिखाया।

                                                                 Mahima Chaudhary

बता दे महिमा ने अपने करियर में परदेस, दिल क्या करे, दाग- द फायर, धड़कन, खिलाड़ी 420,ये तेरा घर ये मेरा घर, दिल है तुम्हारा, तेरे नाम ,बागबान जैसी फिल्में की है। फिलहाल महिमा सिंगल पैरंट हैं। 2006 में महिमा ने बॉबी मुखर्जी(Bobby Mukherjee) से शादी की थी और 2013 में उनका तलाक हो गया था। फिलहाल अपनी बेटी के साथ वो खुशहाल जिंदगी जी रही हैं।

Related Story