अमिताभ बच्चन को सबसे खूबसूरत एक्ट्रेस लगती थीं वहीदा, जबरा फैन रहे हैं

By Neetu Feb. 3, 2020, 5:12 p.m. 1k

3 फरवरी को गुजरे  दौर की एक्ट्रेस वहीदा रहमान ( Waheeda Rehman ) का जन्मदिन होता है। वो 82 साल की हो गई हैं। आपको बता दें कि अमिताभ बच्चन ( Amitabh Bachchan) की सबसे फेवरेट एक्ट्रेस रही हैं वहीदा।

 दोनों ने रेशमा और शेरा, अदालत और कभी कभी जैसी फिल्मों में साथ काम किया है। अमिताभ इस बात का ऐलान कई बार सोशल मीडिया पर कर चुके हैं कि वो वहीदा रहमान के बहुत बड़े फैन हैं। 

यह भी पढ़ें: अमिताभ-जया ने किया कटरीना का कन्यादान, जानिए क्या है पूरी कहानी

 सीआईडी से दिल्ली 6 तक हर रोल में फिट रही हैं वहीदा रहमान ।  वहींदा की यही तो खासियत है जिस रोल को निभाया  ऐसा लगा जैसे वो किरदार तो बस उनके लिए ही लिखा गया हो। चाहे 19 साल की किसी जवां लड़की का रोल हो ..या फिर दादी  मां का रोल...हर जगह वहीदा ने अपनी छाप छोड़ी । 

3 फरवरी  1936 को तमिलनाडु के चेंगलपट्टू में जन्म हुआ था वहीदा का। वो डॉ़क्टर बनना चाहती थी लेकिन तकदीर ने एक्टर बना दिया। फेफड़ों में इंफेक्शन की वजह से वहीदा डॉक्टरी की पढाई नहीं कर सकी...लेकिन अच्छी भरतनाट्यम डांसर होने की वजह से उन्हें फिल्मों में काम मिल गया । हिंदी सिनेमा के गोल्डन पीरियड में वहीदा टॉप एक्ट्रेसेस में शामिल थी।  

बड़ी खामोशी से फिल्म दर फिल्म वहीदा पॉपुलर होती चली गई।  प्यासा, सीआईडी, चौधवी का चांद, साहिब बीवी और गुलाम, गाइड, नील कमल और कागज के फूल  वहीदा के फिल्मी करियर की यादगार फिल्में हैं। वहीदा रहमान के फिल्मी करियर की शुरुआत तमिल और तेलुगू फिल्मों से हुई। हैदराबाद में फिल्म रोजुलू मारायी की सफलता पर दी गई पार्टी में गुरूदत्त ने उन्हें देखा और बंबई ले आए।उन्होंने अपने प्रोडक्शन की फिल्म सीआईडी (1956) में उन्हें खलनायिका का रोल दिया। सीआईडी हिट रही और वहीदा रहमान रातों रात स्टार बन गई।

 

फिल्म में वहीदा रहमान  के अभिनय की सबने सराहना की और गुरुदत्त ( Guru Dutt )  तो उनके कायल ही हो गए ।सीआईडी के् बाद गुरू दत्त ने वहीदा के साथ कई फिल्में की लेकिन इनमें सबसे ज्यादा चर्चित रही प्यासा। कहते है इसी फिल्म के बाद गुरू दत्त और वहींदा का अफेयर शुरू हुआ। गुरू दत्त के साथ वहीदा रहमान ने  साहि्ब बीवी और गुलाम, चौधवी का चांद कागज के फूल जैसी फिल्में की। 

गुरूदत्त के साथ उनकी ये  फिल्में आज भी क्लासिक फिल्मों की लिस्ट में आती हैं। वहीदा रहमान के फिल्मी करियर में जितना स्थान गुएदत्त का रहा उतना ही देव आनंद का भी रहा। देव आनंद के साथ उन्होंने गाइड ( Guide ) , बाजी, प्रेम पुजारी और सीआईडी जैसी हिट फिल्में दीं।  1965 में आई फिल्म  गाइड इस फिल्म के लिए उन्हें फिल्मफेयर अवार्ड का पुरस्कार मिला। 

1968 में आई नीलकमल के बाद एक बार फिर से वहीदा रहमान का कैरियर आसमान की बुलंदियों पर चढ़ने लगा.इस बार भी वहीदा बेस्ट एक्ट्रेस साबित हुईसुनील दत्त के साथ वहीदा ने रेशमा और शेरा नाम की फिल्म में काम किया और इस फिल्म के लिए उन्हें नेशनल अवॉर्ड मिला। 

वहीदा रहमान शादी के बाद भी फिल्मों में एक्टिव रही। कभी कभी, त्रिशूल, फागुन, और महान जैसी फिल्मों में वो नजर आई। साल 1972 में पद्म श्री और साल 2011 में पद्म विभूषणपुरस्कार से सम्मानित किया गया अब वहीदा 80 साल की हो चुकी है लेकिन फिल्मों से उनका नाता बरकरार हैं। साल 2009 में वो दिल्ली 6 में एक अहम  रोल प्ले करती दिखी। इससे पहले फिल्म रंग दे बसंती में भी वहीदा को काफी पसंद किया गया  था ।

Related Story