'जो जीता वही सिकंदर' की रिलीज के 28 साल पूरे, जानिए क्यों अक्षय को फिल्म से निकाल दिया गया था

By Arunima July 8, 2020, 12:19 a.m. 1k

आमिर खान Aamir Khan स्टारर जो जीता वही सिकंदर की रिलीज को 28 साल पूरे हो चुके हैं। 22 मई 1992 में रिलीज हुई ये फिल्म दर्शकों को आज भी उतनी ही पसंद है। हालांकि कम ही लोगों को पता है कि ये आमिर खान की डेब्यू फिल्म हो सकती थी। दरअसल, मंसूर खान के पास ये स्क्रिप्ट पहले से थी और वो कयामत से कयामत तक से पहले यही फिल्म बनाना चाहते थे। लेकिन बात नहीं बनी।

बाद में जब इस फिल्म पर काम शुरू हुआ तो सबसे पहले जुही चावला को ही हीरोइन का रोल ऑफर किया गया। लेकिन जुही चावला के पास एकमुश्त डेट्स नहीं थीं इसलिए उन्हें फिल्म छोड़नी पड़ी। वहीं ये फिल्म अक्षय कुमार और आमिर खान की भी साथ में पहली फिल्म हो सकती थी। लेकिन शूटिंग करने के बावजूद अक्षय को फिल्म से रिप्लेस कर दिया गया। अक्षय कुमार को फिल्म में दीपक तिजोरी के रोल के लिए कास्ट किया गया था लेकिन वो फिल्म में गेंद से अजीब से खिलवाड़ करते रहते थे। और इसलिए 80 प्रतिशत शूटिंग होने के बावजूद फिल्म से उन्हें निकाल दिया गया और दीपक तिजोरी के साथ नए सिरे से शूटिंग शुरू हुई।

फराह खान फिल्म में असिस्टेंट डायरेक्टर थीं लेकिन एक दिन सरोज खान सेट पर नहीं पहुंची। पहला नशा गाना शूट होना था और फराह ने ऑफर किया कि वो ये गाना शूट कर सकती हैं। यहीं से उनका बॉलीवुड सफर शुरू हुआ। फिल्म में शेखर की भूमिका में थे मिलिंद सोमण। लेकिन 30 प्रतिशत शूटिंग के बाद मिलिंद को भी फिल्म से निकाल दिया गया। इसके बाद दीपक तिजोरी आखिरकार फिल्म में शेखर मल्होत्रा के किरदार में दिखाई दिए।

बार बार फिल्म शूट करते करते मंसूर खान थक चुके थे। वो फिल्म से भी सारी उम्मीदें छोड़ चुके थे लेकिन आमिर खान उनके साथ खड़े रहे और समझाया कि ये फिल्म भारतीय सिनेमा के इतिहास की बेहतरीन फिल्मों में से एक मानी जाएगी। भले ही इसे बनने में कितना भी समय लगे।

ये फिल्म अंग्रेज़ी फिल्म ब्रेकिंग अवे से पूरी तरह से प्रेरित है। हालांकि फिल्म को 1993 में बेस्ट फिल्म का फिल्मफेयर अवार्ड मिला था। ये फिल्म बॉक्स ऑफिस पर ब्लॉकबस्टर साबित हुई थी। IMDB रैंक की मानें तो जो जीता वही सिकंदर 1992 की सबसे ज़्यादा कमाने वाली टॉप 10 फिल्मों में शामिल थी

Related Story