-विज्ञापन-

Vivek Oberoi: जब विवेक ओबेरॉय को आया था सुसाइड का ख्याल, बोले- ‘सुशांत सिंह को मैं…

विवेक ओबेरॉय की लाइफ में एक वक्त ऐसा भी आया था जब उनका सबकुछ खत्म करने का मन हो गया था। इस वजह से वो सुशांत सिंह राजपूत के दर्द को भी समझ सकते हैं।

Vivek Oberoi: विवेक ओबेरॉय अपनी एक्टिंग से हमेशा अपने फैंस का दिल जीत लेते हैं। एक समय था जब फिल्म इंडस्ट्री में विवेक ओबेरॉय का ही बोलबाला था। वो अपने काम को हमेशा पूरी ईमानदारी से करते थे। लेकिन फिर एक ऐसा भी फेज आया जब विवेक इंडस्ट्री से बिल्कुल गायब हो गए। उस समय विवेक ओबेरॉय की लाइफ में एक ऐसा भी मोड़ आया जब उन्होंने सब खत्म करने का भी सोच लिया था। हाल ही में एक इंटरव्यू में विवेक ओबेरॉय ने इस बारे में खुलकर बात की।

इंटरव्यू के दौरान किया बड़ा खुलासा

विवेक ओबेरॉय ‘कंपनी’ और ‘साथिया’ जैसी फिल्मों में बेहतरीन परफॉर्मेंस के लिए जाने जाते हैं। विवेक का करियर एकदम बढ़िया चल रहा था। पर कुछ चीजों के चलते वो रास्ता भटक गए थे। एक इंटरव्यू के दौरान विवेक ने बताया कि उन्होंने ऐसा समय भी देखा है,जब डेढ़ साल तक वह बिल्कुल खाली रहे, उन्हें कोई काम नहीं मिला। उस दौरान वो फिल्मों के ऑडिशन के लिए जाते थे, पर किसी को ये नहीं बताते थे कि वो सुरेश ओबेरॉय के बेटे हैं।

और पढ़िएDelhi Acid Attack: दिल्ली एसिड अटैक पर फूटा कंगना रनौत का गुस्सा, याद आई बहन रंगोली चंदेल की सर्जरी

सब कुछ खत्म करना चाहते थे विवेक

विवेक ने बताया कि जब उन्हें काम नहीं मिल रहा था तो उनके मन में बहुत से बुरे ख्याल आने लगे थे ।एक वक्त ऐसा भी आया था जब उन्होंने सब खत्म करने का फैसला कर लिया था। विवेक ने बताया कि वो अपने आसपास की नेगेटिविटी से बहुत परेशान हो गए थे। उन्हें कुछ समझ नहीं आता था कि क्या करूं। ये चीजें आपको अंदर से तोड़ देती हैं। उस समय उनकी लाइफ में उनकी पत्नी प्रियंका ने एक अहम रोल निभाया। प्रियंका की वजह से ही वो जान पाए की वो रियल में कौन हैं।

सुशांत सिंह के दर्द को समझ सकते हैं विवेक

विवेक ने बताया कि सब कुछ खत्म करने का मतलब बहुत गहरा होता है। इस वजह से वो इस दर्द को महसूस कर सकते हैं जिस दर्द से सुशांत सिंह राजपूत और बाकी सब ही लोग गुजरे हैं। एक्टर ने कहा,’मैंने उस डार्क साइड के दर्द को महसूस किया है। कई बार आपको ये कुचलने की कोशिश भी करता है। जब झूठ बार-बार बोला जाता है तो सच लगने लगता है। आप यकीन करने लगते हैं कि यही सच्चाई है। लेकिन बहुत दिनों तक सच को झूठ नहीं बताया जा सकता है।

और पढ़िएNora Fatehi: नोरा फतेही ने बिना नाम लिए जैकलीन फर्नांडिस को पढ़ाया संस्कार का पाठ, बोलीं- ‘मेरे मां-बाप ने…

मां से मिली थी इस फेज से निकलने की हिम्मत

विवेक ओबेरॉय का कहना है कि इस दर्द को भुला कर आगे बढ़ने की हिम्मत उन्हें उनकी मां से मिली। एक्टर कहते हैं कि उनकी मां ने उन्हें कुछ कैंसर पीड़ित बच्चों से मिलाया। वो बच्चे जो छोटी उम्र में बड़ी लड़ाई लड़ते हुए भी मुस्कुराते नजर आते हैं। इससे उन्हें आगे बढ़ने का हौसला मिला। इसके बाद अब विवेक ओबेरॉय फिल्मों के अलावा ओटीटी सीरीज में भी नजर आने लगे। हाल ही में वो सुनील शेट्टी के ‘धारावी बैंक’ में दिखे, जिसमें उनके रोल को खूब पसंद किया गया।

यहाँ पढ़िए – बॉलीवुड से  जुड़ी ख़बरें

Latest

Don't miss

Uorfi Javed-SRK: उर्फी जावेद बनना चाहती हैं शाहरुख खान की दूसरी बीवी, हो गईं ट्रोल

Uorfi Javed-SRK: शाहरुख खान की फिल्म 'पठान' बॉक्स ऑफिस पर छाई हुई है। मूवी में शानदार एक्शन, स्टोरी और एक्टिंग का ट्रिपल डोज देखने...

Ghum Hai Kisikey Pyaar Mein Spoiler: विराट को थाने ले जाएगी सई, पत्रलेखा पर भी गिरेगी गाज

Ghum Hai Kisikey Pyaar Mein Spoiler: 'गुम है किसी के प्यार में' स्टार प्लस का पॉपुलर शो है। वहीं मेकर्स ऑडियंस को इंगेज रखने...

Mouni Roy Bold Look: मोनी राय के बोल्ड लुक ने मचाई आफत, फैंस हार बैठे दिल

Mouni Roy Bold Look: एक्ट्रेस मोनी राय (Actress Mouni Roy) एक बेहतरीन अदाकारा है। उन्होंने नागिन जैसे डेली सोप में काम करके घर-घर में...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here