RIP Shivkumar Sharma: संतूर वादक शिव कुमार शर्मा का 84 साल की उम्र में निधन

- Advertisement -

मुंबई। पद्म विभूषण भारतीय संगीतकार और संतूर वादक ‘पंडित शिवकुमार शर्मा’ (Pandit Shivkumar Sharma) का मुंबई में 84 साल की उम्र में निधन हो गया। शिवकुमार पिछले 6 महीने से किडनी की समस्या से जूझ रहे थे और डायलिसिस पर थे। वहीं आज अचानक हार्ट अटैक आने से उनका निधन (Pandit Shivkumar Sharma Died) हो गया। इस खबर के सामने आते ही पूरी फिल्म इंडस्ट्री में शोक की लहर दौड़ गई है जिसके बाद सोशल मीडिया पर स्टार्स और फैंस उन्हें श्रद्धांजलि दे रहे हें।

पंडित शिवकुमार शर्मा के निधन पर देश के प्रभानमं​त्री ‘नरेंद्र मोदी’ (PM Narendra Modi) ने भी ट्विटर पर शोक जताया है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, ‘पंडित शिवकुमार शर्मा जी का निधन हमारी सांस्कृतिक दुनिया के लिए बहुत क्षति है। उनका संगीत आने वाली पीढ़ियों को मंत्रमुग्ध करता रहेगा। मुझे उनके साथ अपनी बातचीत अच्छी तरह याद है। उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति संवेदना। शांति।’

पद्म विभूषण पंडित शिव कुमार शर्मा (Pandit Shivkumar Sharma) ने जम्मू कश्मीर में संतूर को एक म्यूजिकल इंट्रूमेंट के तौर पर पहचान दिलाई थी। हिंदुस्तानी शास्त्रीय संगीत को नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने में पंडित शिवकुमार शर्मा ने अहम योगदान दिया था। इतना ही नहीं शिव कुमार शर्मा कई फिल्मों में भी संगीद दिया था। शिव कुमार शर्मा ने फिल्मों में अकेले नहीं बल्कि पंडित हरि प्रसाद चौरसिया के साथ मिलकर संगीत दिया था।

शिव कुमार शर्मा और हरि प्रसाद चौरसिया की जोड़ी को शिव हरी के रूप में पहचाना जाता था और ये जोड़ी को काफी पसंद किया जाता था। इस जोड़ी ने ‘सिलसिला’, ‘लम्हे’ और ‘चांदनी’ जैसी फिल्मों में संगीत दिया था। आपको बात दें, पंडित शिवकुमार शर्मा का जन्म कश्मीर के एक संगीत से जुड़े परिवार में साल 1938 में हुआ था। उन्होंने संगीत की शुरुआती शिक्षा अपने पिता से ली। इसके बाद उन्होंने संतूर में महारत हासिल की थी। वो आज नहीं है लेकिन उनकी यादें हमेशा हमारे साथ रहेंगी।

- Advertisement -
Exit mobile version