--- विज्ञापन ---

Neeti Mohan: सिंगर नीति मोहन ने की अपने मदरहुड पर बात, बोलीं-ऐसे करती हैं मैनेज

- Advertisement -

Neeti Mohan: बॉलीवुड की फेमस सिंगर नीति मोहन पिछले साल 2021 में ही मां बनी हैं। पिछले साल उन्होंने खूब धूम-धाम से बेटे आर्यवीर का अपने घर और जिंदगी में स्वागत किया। अब हाल ही में नीति ने एक इंटरव्यू में बताया कि वो कैसे अपने बच्चे और काम को एकसाथ मैनेज करती हैं। बता दें कि नीति मोहन ने 15 फरवरी 2019 को निहार पांड्या के साथ शादी की थी। शादी के 2 साल बाद 15 फरवरी 2021 को कपल ने सोशल मीडिया पर जल्द पैरेंट्स बनने की गुड न्यूज शेयर की थी।

मगर क्या आप जानते हैं कि बेटे के जन्म के बाद से ही सिंगर अपनी पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ के बीच अच्छा तालमेल बनाकर चल रही हैं। एक इंटरव्यू के दौरान नीति मोहन (Neeti Mohan) ने मां बनने के अनुभवों के बारे में बात करते हुए कहा, “मां बनना एक ऐसा सम्मान है, जो आपको इस दुनिया में एक जीवन लाने के बाद मिलता है, इसलिए आप चमत्कारों में विश्वास करने लगते हैं, इसने मुझे एक बेहतर इंसान और संगीतकार के रूप में विकसित किया है, जब से मैं मां बनी हूं, मैं प्रकृति के प्रति अधिक भावुक और मजबूत हो गई हूं। जब आप सुनते और देखते हैं, तो आप अच्छा संगीत बनाते हैं, मूल रूप से जब आप लय में होते हैं, मातृत्व के बाद मेरे जीवन में चीजें निश्चित रूप से अधिक मधुर हो गई हैं। एक कलाकार के रूप में, मैं और अधिक कम्लीट महसूस करती हूं, क्योंकि अब मैं भावनाओं के एक और स्पेक्ट्रम-मातृत्व को समझती हूं”।

इसके बाद जब सिंगर से पूछा गया कि काम पर वापस आना क्या आसान रहा? तो इस पर उन्होंने कहा, “अगर महामारी के दौरान कोई चीज सबसे अच्छी थी, तो वह मेरे बच्चे के साथ मेरे घर पर रहने की जर्नी थी, मैं अपने होम स्टूडियो से रिकॉर्डिंग कर रही थी और उसके साथ भी रह रही थी, अब जब चीजें खुल गई हैं, तो मैंने अपने शूट, रिकॉर्डिंग और शो के लिए फिर से यात्रा करना शुरू कर दिया है, मुझे लगता है कि, मेरा जीवन पहले जैसा हो गया है, लेकिन सबसे खूबसूरत बदलाव यह है कि, घर वापस जाना अब और अधिक रोमांचक लगता है, क्योंकि मुझे पता है कि, मेरा बच्चा मेरा इंतजार कर रहा है, मुझे लगता है कि, मैं इसे अच्छी तरह से मैनेज करती हूं, क्योंकि मातृत्व ने मुझे एक बेहतर टाइम मैनेजर बना दिया है, इसने मुझे और अधिक प्रोडक्टिव बना दिया है”।

आखिर में जब नीति से पूछा गया कि अपने बच्चे को घर छोड़कर काम के लिए बाहर निकलते समय कभी खुद को अपराधी महसूस किया है? इस पर नीति ने कहा कि, ‘मेरे बच्चे के अलावा, मेरा काम भी मेरा बच्चा है, वास्तव में, ये मेरा पहला बच्चा है, जब मैं आर्यवीर के साथ होती हूं, तो मुझे बिल्कुल भी दोषी नहीं महसूस होता कि, मैं काम नहीं कर रही हूं और जब मैं काम पर होती हूं, तो मुझे अपने बेटे के साथ न होने के लिए दोषी महसूस नहीं होता, क्योंकि मेरे लिए दोनों ही जरुरी हैं’।

- Advertisement -
Exit mobile version