Thursday, December 8, 2022
--- विज्ञापन ---

Latest Posts

Shraddha Murder Case: श्रद्धा वॉकर की चिट्ठी देख टूटा कंगना रनौत का सब्र, बोलीं- ‘उसका हीरो उसे…

श्रद्धा वॉकर की वायरल चिट्ठी देख एक्ट्रेस कंगना रनौत के सब्र का बांध टूट गया है। एक्ट्रेस पोस्ट कर श्रद्धा की मानसिक स्थिति को लेकर बड़ी बात कहती नजर आई हैं।

- Advertisement -

Kangana Ranaut On Shraddha Murder Case: दिल्ली के महरौली इलाके के श्रद्धा वॉकर मर्डर केस ने सभी देशवासियों को हिलाकर रख दिया है। साथ ही मनोरंजन जगत से सितारे भी इस केस को जान बुरी तरह दंग हैं। वहीं बीते दिन श्रद्धा वॉकर की एक पुलिस कम्पलेन वायरल हुई है, ये कम्पलेन लेटर साल 2020 का है जब श्रद्धा ने इसे लिख पुलिस से मदद की गुहार लगाई थी। इसी लेटर को साझा करते हुए एक्ट्रेस कंगना रनौत ने दिल झकझोंर देने वाली बात कही है।

Shraddha Walker की चिट्ठी देख टूटीं कंगना रनौत 

श्रद्धा वॉकर के वायरल लेटर को साझा करते हुए कंगना रनौत ने कैप्शन में लिखा है,’यह वह चिट्ठी है, जो श्रद्धा ने 2020 में पुलिस से सहायता मांगते हुए लिखी थी। वह हमेशा उसे डराता था और टुकड़े-टुकड़े करने की धमकी देता था। उसने लिखा है कि वह उसे ब्लैकमेल करता था लेकिन उसने ना जाने कैसे उसका ब्रेनवॉश कर दिया और अपने साथ दिल्ली ले गया। उसने उसे दुनिया से अलग कर दिया और काल्पनिक दुनिया में ले गया।’

और पढ़िएAnnu Kapoor: एक्टर अन्नू कपूर से 4.3 लाख रुपये की ठगी करने वाला शख्स गिरफ्तार

शादी का वादा कर दिया धोखा- Kangana Ranaut

कंगना रनौत ने आगे लिखा,’हम सभी को पता है कि ‘शादी का वादा’ करके ऐसा किया गया। वह कमजोर नही थीं। वह एक लड़की थी, जिसका जन्म इस दुनिया में जीने के लिए हुआ था लेकिन बदकिस्मती से उसके अंदर एक महिला का दिल था, जो घाव भरने वाली होती है। महिला, हमारी धरती की ही तरह ऐसी कोख होती है, जो किसी में भेदभाव नहीं करती। वह उन सभी को अपनाती है, भले ही वह उस लायक हों या ना हों।’

और पढ़िएRicha Chadha Apology: ऋचा चड्ढा ने भारतीय सेना का अपमान करने वाले आरोप पर तोड़ी चुप्पी, दी ये सफाई

अंत में राक्षस जीता- Kangana Ranaut

कंगना रनौत ने आखिरी में लिखा,’वह परिकथा में विश्वास करती थी। वह यह मानती थी कि दुनिया को उसका प्यार चाहिए। वह देवी थी जिसके पास घावों को भरने की शक्तियां थीं। वह कमजोर नहीं थी, वह एक लड़की थी जो परियों की कहानी में जीती थी। वह परिकथा में अपने हीरो के भीतर छिपे राक्षसों से लड़ने की कोशिश कर रही थी। हम सभी जानते हैं कि प्यार हमें अभिभूत कर देता है। वह राक्षसों को मारने के लिए बहुत आगे चली गई थी लेकिन हीरो चाहता था कि राक्षस जीते और यही हुआ।’

यहाँ पढ़िए – बॉलीवुड से  जुड़ी ख़बरें

- Advertisement -

Latest Posts